+91 80542 60441

कालसर्प योग क्या होता है ?

कालसर्प योग क्या होता है ?

कुंडली में 12 घर होते है जिसको 12 खंड भी कहते है। इन खंडो में जन्म समय पर ग्रहो की वर्तमान अवस्था के हिसाब से सभी ग्रहो को विभाजित किया जाता है और हर खंड का जीवन विभिन्न सुखो पर अलग अलग पड़ता है मुख्यत जीवन के 12  खंड माने गए है और जीवन के अलग अलग प्रकार के सुख विराजित है जैसे शरीर सुख,माया सुख,माता पिता सुख,पढाई सुख ,पत्नी सुख,पति सुख,संतान सुख ,विदेश सुख ,कारोबार सुख,नौकरी सुख अदि । अगर जन्म समय पर व्यक्ति को जन्मांग चाकर में राहु और केतु की स्तिथि आमने सामने होती है

और बाकि सातो गृह राहु और केतु के बीच में खाद जाये तो  मतलब एक भी गृह राहु और केतु की छाया से बाहर न ले तो उस व्यक्ति की कुण्डली में कल सर्प दोष बन जाता है जिसका प्रभाव जीवन के विभिन 12 खंडो पर पड़ता है । जातक को कल दोष के बारे में सचेत रहना चाहिए और समय रहते इसका निवारण करवा लेना चाहिए और इसके अत्यंत दुषः पराभव से बचना चाहिए।  आचार्य पंडित जे बी शर्मा जी कर्मकांड विशषज्ञ है और उनके द्वारा कल सर्प दोष का निवारण पूरा विधि विधान से किया जाता है

Famous Astrologer JB Sharma

Astrologer JB Sharma Serve people for their better life and success through astrology. In the field of astrology astrologer JB Sharma provide great importance on kundli reading and vastu dosh improvement. Perfect astrological calculation and predictions and provide great solutions are the tecniques which is used by him.

Looking for Solution? Our expert will consult you properly.

Talk to us! We promise we can help you! Call Now! +91 80542 60441